Storekeeper Free Computer Course In Hindi-Storekeeper Guide In Hindi

Storekeeper job description

सबसे पहले मै बतादू अगर आप की ये पोस्ट उनके लिए है जो अपने लाइफ में एक अच्छा स्टोरकीपर बनना चाहते है।  जो स्टोरकीपर के बारे में बिलकुल नहीं जानते है लेकिन वो Storekeeper बनना चाहते है।

इस समय हर कोई चाहता है की मै एक अच्छा  जॉब करू लेकिन वो निर्णय नहीं ले पाते अगर आप कम समय में पैसा कमाना चाहते है तो अच्छी बात है लेकिन आप को ये निर्णय लेना है की आप किस लाइन में जाना चाहते है। उसमे से एक स्टोर कीपर भी बहुत अच्छा आप्शन है

अगर आपको  कंप्यूटर बिलकुल भी नहीं आती और आप स्टोरकीपर बनना चाहते है तो बिलकुल बन सकते है वो भी प्रोफेशन उसके लिए मै जैसे जैसे बताऊंगा वैसे आप को फॉलो करना है।

सबसे पहले आप ये जान ले की इस लाइन में कमसे काम 10th तक की पढ़ाई जरुरी है।  ये क्यों ? क्यों की आपको पता होना चाहिए की लिखना और समझा बेहद जरुरी है। अगर आपने 12th कर लिया है तो बहुत अच्छी बात है।

क्यूंकि एक स्टोर कीपर वही बन सकते है जिसे पढने लिखने आता है, इसमें आपको इंग्लिश भी जरुरी है कितना वो भी आपको बतायेंग जो को बहुत easy है।

अगर आप की इंग्लिश कजोर है तो कोई बात नहीं लेकिन इंग्लिश उतनी जरूर आनी चाहिए की आप पढ़ सके समझना अलग बात है और मुझे जहा तक पता है की आज के दौर में सब कोई जनता है क्यों की व्हाट्सप्प और सोशल मीडिया हर कोई इस्तेमाल कर रहा और पोस्ट कर रहा। 

अगर आपको English (Intermediate Level ) तक नहीं आती आप इंग्लिश पढ़ नहीं सकते तो आप को सबसे पहले किसी भी Spoken English Center में जा कर Admission लेकर सिख लेना चाहिए। 

इसके जरुरी नहीं है की आपको एकदम 100% इंग्लिश बोलने आना चाहिए बल्कि आप इंग्लिश पढ़ सके जैसे मई इस पोस्ट पे भी कही कही लिखा हु उतना तो आना चाहिए अब रही बोलने की बात तो आप अगर पूरी Tense समझ ले रहे और कुछ Word Meaning याद कर ले रहे तो आराम से उतना आप सिख सकते है जीता आपको जरुरी है। 

English बोलना कैसे सीखे?

जैसे मैंने बोलै की आपको Tense आनी चाहिए और Word Power होना चाहिए ताकि आप सामने वाले को समझा सके उसके लिए आपको डेली कोई Internet से Topic Search करना है और उसे अपने बोल चाल में लाना है। 

English Topic भी आपको Easy ढूँढना है उसके बाद उसको किसी साइबर से प्रिंट लेले या मोबाइल से स्क्रीनशॉट लेले और उसपे बोलना स्टार्ट कर दे। अगर इतना भी नहीं कर सकते तो अपने भाई बहन का Class – 5,6,7  की English की बुक लेले। 

बुक को रोज पढ़े समझे और उसके word को याद करे उसके बाद आप बॉलीवुड की इंग्लिश मूवीज देखना स्टार्ट करदे याद रहे सिर्फ बॉलीवुड की और साऊथ इंडियन की क्यूंकि इसकी language आसान होता है जो आपको समझ पूरा आएगा। 

अगर आप एक मूवीज देख कर उसको अच्छे से समझ जा रहे चाहे वो मूवी आपको दस 10 बार क्यूँ न देखन पड़े तो आप बिलकुल इंग्लिश सिख जायेंगे और मेरा वादा है बहुत अच्छे से इंग्लिश बोलने भी लगेंगे। 

अगर आप गरीब परिवार से आते है और ये स्टोर कीपर का कोर्स करना चाहते है तो मै आपको बताउंग की कैसे आप फ्री में बिना किसी को पैसा दिए घर बैठे ये कोर्स कर सकते है जो की आपको कही नहीं मिलेगा।

साथ ही साथ आपको ये भी पता चल जायेगा की स्टोर कीपर कैसे काम करता है और इसका सभी जरुरी बाते भी आपको पता चल जायेगा। जैसे इसमें कितना पढना है और क्या क्या जरुरी है।

चलिए सबसे पहले कुछ स्टोर कीपर के बारे में जान लेते है फिर इस बारे में बात करेंगे और आपको फ्री में कोर्स करने का सही राह दिखायेंगे वो भी विदेश के Experience के साथ जो आपको कोई नहीं बताएगा क्यूंकि वो बहुत अच्छे पैसे कामा रहे अपने यहाँ के एक इंजिनियर की सैलरी जितनी।

Storekeeper Free Computer Course In Hindi

Storekeeper me kaam kaise hota hai? Storekeeper me kya kya kaam hota hai?

अब आते है मुद्दे पे।  स्टोरकीपर सिर्फ स्टोर में काम नहीं करता और ये सिर्फ कंप्यूटर वर्क नहीं है ये जान ले। स्टोरकीपर का काम स्टोर से तो है ही साथ में उसे कंप्यूटर भी जानना है वो सब मै आपको बताऊंगा वो भी बहुत ही अच्छे तरीके से। 

स्टोरकीपर का काम मैटेरियल्स received करना और Issued यानि साइट पे जारी करनाऔर स्टोर करना ) होता है।  इसमें सबसे पहले कंपनी एक विथड्रावल (Withdrawal ) जारी करती है। अब आप सोच रहे होंगे Withdrawal क्या है तो इसे भी जान लेते है।

Withdrawal और MR क्या है?

जब कंपनी को बहुत से Project या Sites मिलता है जिसे उसे Complete करके उसके मालिख को देना होता है तो कई कंपनी अपने ही कंपनी से सारे सामिग्री यानि Materials उपलध करा कर काम करती है।

अब मैटेरियल्स को मंगवाने का प्रोसेस जान लीजिये क्यूंकि ये सबसे जरुरी है। और नए स्टोर कीपर के लिए तो बेहद जरुरी है जानना की कैसे कंपनी में काम होता है।

Withdrawal कंपनी में तब बनता है जब किसी साईट पे काम करने के लिए किसी मैटेरियल्स  की जरुरत पड़ती है जिसे उसे उस प्रोजेक्ट में लगाना होता है उसे आगे बढाने के लिए।

Withdrawal: जो पे साइट सामान लेने यां मंगवाने के लिए होता और ये कंपनी के वेयरहाउस से या स्टोर से मैटेरियल्स लेने के लिए होता है।  ये तो कंपनी के मैटेरियल्स कंपनी में इस्तेमाल करने के लिए होगया लेकिन अगर ये सामान मौजूद नहीं होगा तो क्या होगा।

तो वेयरहाउस वाले इसे नॉट अवेलेबल करके विथड्रावल वापस भेज देते है जिसका ईएमआर (EMR) बनता है।  अब ये क्या होता है इसे भी मै बताऊंगा लेकिन अगर मैटेरियल्स अवेलेबल ( Available ) होगा तो कैसे मैटेरियल्स साइट को जारी करेंगे ये भी जानना जरुरी है। 

Data Entry and Storekeeper
Storekeeper Training

अगर Materials अवेलेबल ( Available ) होता है तो स्टोरकीपर पहले इसे मैटेरियल्स को arrange करते है labor के साथ और उसके बाद स्टोर कीपर एक मैटेरियल्स ट्रांसफर (Materials Transfer Note) नोट या मैटेरियल्स इस्सुएन्स वाउचर (Materials Issuance Voucher ) बनाते है।  जैसे की निचे फॉर्मेट में दिया गया है। उसके बाद ये मैटेरियल्स ट्रान्सफर किया जाता है।

Storekeeper क्या है इसमें कैसे काम किया जाता ( Best ) - 2022

अगर मैटेरियल्स उपलब्ध नहीं होता है तो फिर उस प्रोजेक्ट या साईट से eMR या MR बनता है Company में Materials Request Paper or E-Electronic, M-Materials, R-Request Paper कहते है। 

आप नोट कर ले क्यूंकि आपके इंटरव्यू में ये Question पूछा जा सकता है की मैटेरियल्स ट्रांसफर करने के लिए क्या प्रोसेस होता होता है उसमे आप ये बता सकते है। 

Materials Request Paper कैसे बनता है?

बता दे आपको ये Materials Request Paper – ERP Software ( Microsoft Dynamics ) पे या किसी भी ERP सॉफ्टवेयर पे बनता है। जिसमे वही MR का इस्तेमाल करके उसका इलेक्ट्रॉनिक मैटेरियल्स रेक़ुएस्ट (eMR ) बनता है। 

Materials Request बनाने के लिए सबसे पहले ERP Software पे लॉगिन करना पड़ता जिसके लिए इसका User ID और पासवर्ड की जरुरत पड़ती है। ये सब आपको कंपनी के द्वारा  मिलता है। 

लॉगिन करने के बाद आपको प्रोक्योरमेंट एंड सोर्सिंग में जाना है चाहे जो भी ऑप्शन हो आपके ERP Software में उसके बाद वहा एक ऑप्शन मिलता है Create Material Request उसपे क्लिक करके वह Item Code दे कर Generate करना पड़ता है। 

बनाने के बाद सबमिट करते है जो की सबसे पहले प्रोजेक्ट मैनेजर का अप्रूवल लेना पड़ता है उसके बाद ये वेयरहाउस डिपार्टमेंट में असाइन हो जाता है, वहा से Approve होने के बाद ये Procurement डिपार्टमेंट में चला जाता है। 

Procurement Department वाले इसको Cash या PRQ बनाते है उसके बाद ये अकाउंट डिपार्टमेंट चला जाता है जहा से इसका PO बनता है जिसे Purchase Order जाता है। 

Po बनने के बाद ये कंपनी के सीनियर Procurement Department से Approval लेना पड़ता है उसके बाद Price Controller का Approval लेना पड़ता है।

Price Controller इस Price को पहले की Price से Compare करता है उसके बाद Approved करता है जिसके बाद अकाउंट डिपार्टमेंट वाले देख कर आगे Approved कर देते है। 

सबसे लास्ट में Supply Chain या Department / Organization के Head से Approval लेना पड़ता है। उसके बाद Purchaser के पास जाता है जिसे वो सप्लायर को देते है और Supplier अपना Quotation देता है फिर ये Accept होने के बाद वो Po – Purchase Order के हिसाब से अपना Delivery Note के माध्यम से Materials जारी यानि ट्रांसफर करता है। 

अब यहाँ से सुरु होता है Warehouse Department का काम और Storekeeper का काम जो की सप्लायर से मिलती है।  जिसे आपको जानना जरुरी है की कैसे इस मैटेरियल्स को Received किया जाता है। 

अब Supplier कंपनी के Po के हिसाब से कंपनी के Warehouse डिपार्टमेंट के Main Warehouse में या कंपनी कसे Project के Store पे Materials Deliver करता है, जिसे स्टोरकीपर Received करता है

Storekeeper को Materials Received करते समय कौन सी सौधानी रखनी पड़ती है। 

स्टोरकीपर को Materials Received करते समय सबसे पहले ये सावधानी रखनी पड़ती है की Supplier का Delivery Note कंपनी के Po – Purchase Order से Match करता हो। 

यानि Po में 20 Materials का नाम हो और उसकी Quantity हो Same वैसे ही डिलीवरी नोट में होना चाहिए जो की सप्लायर से मिलता है। जिसे DN – 12345 किसी भी नंबर के साथ बना कर भेजते है जिसका पूरा नाम Delivery Note है। 

दूसरा सबसे एहम सावधानी ये रखनी पड़ती है की Supplier से आया हुआ Materials Purchase Order के Model Number या Serial Number से Match करता हो। 

इसके अलावा आया हुआ Materials का Description भी Purchase Order से मिलता हो और Quantity सामान हो यानि वो भी Purchase Order के बराबर हो, Quantity कम हो तो कोई बात नहीं Receive कर सकते है क्यूंकि Supplier उसे फिर से भेजेगा Quantity ज्यादा होने के कारन एक साथ नहीं भेज सकता लेकिन अगर Quantity ज्यादा हो तो Receive नहीं करना है। 

अतरिक्त और Extra materials को सप्लायर को वापस भेज देना है क्यूंकि पेमेंट Purchase Order के हिसाब से होता है। उसे Account Department वाले Accept नहीं करेंगे और आपको Manager से सुन्ना भी पड़ सकता है की क्यू Received किये। 

मैटेरियल्स Received करने के बाद स्टोरकीपर उसके Delivery Note पे Stampलगा कर Sign करके एक कॉपी वापस दे देता है और एक कॉपी अपने पास रख लेता है आगे की प्रकिर्या के लिए। 

अब Delivery Note के हिसाब से स्टोरकीपर इसका ERP Software पे Arrival और Product Receive बनता है और इस डिलीवरी नोट को वह Attached कर देता है यानि इस डिलीवरी नोट को ERP Software पे अपलोड कर देता है। 

जिससे अकाउंट डिपार्टमेंट को पता चल जाता है की ये Materials Warehouse या Store पे Received हो गया है। इसके बाद ये मैटेरियल्स Project या Site पे जारी की जाती है। 

जिसका वेयरहाउस या स्टोर से स्टोरकीपर इसका Transfer Note या  Material Issuance Voucher बना कर प्रोजेक्ट पे भेजता है जिसका वो 3 Copy बनता है एक Gate pass के लिए Second Site और Project के लिए और एक खुद के लिए। 

मैटेरियल्स जब साइट पे Received होता है तो वह से इसका एक Receiving Copy वापस स्टोरकीपर को भेज दी जाती है जिसे Original पेपर के साथ Attached करके File में रख दिया जाता है। 

Storekeeper Course Free में कैसे करे?

इंटरनेट पे ऐसे बनत आपको पोस्ट मिल जायेंगे लेकिन आपको काम करने का तरीका और काम करना हीं बताता होगा लेकिन आज मै आपको बताऊंगा की कैसे आप फ्री के कर सकते है। 

अगर आप स्टोरकेपेर फ्री कोर्स करना चाहते है तो आपको पास सबसे पहले इंटरनेट होना चाहिए वो भी अच्छे स्पीड की जिसमे कोई नेटवर्क की समस्या न हो। इसके अलावा आपके पास काम से काम रोज सिखने 1 GB डाटा होनी चाहिए ताकि आपके बैलेंस न कटे। 

अगर आपके पास इसकी सर्टिफिकेट नहीं है और आप चाह रहे Storekeeper Course घर बैठे कर ले कुछ पैसे दे कर और सर्टिफिकेट लेले तो वो भी कर सकते है जिसकी हर जगह मान्यता होगी। 

सबसे पहले आपको अपने मोबाइल, कंप्यूटर, लैपटॉप के किस भी Browser में जाना है वह आपको Search करना है YouTube इसके बाद YouTube के लिंक पे क्लिक करे और YouTube ओपन होने के बाद आपको Search करना है। 

Smart Storekeeper इस नाम से आपको चैनल मिल जायेगा जिसमे कंप्यूटर का लोगो लगा होगा उसके बाद आपको इस चैनल पे जाना है जाने के बाद आपको इसके Playlist में Storekeeper Training के Playlist को Open करना है वहाँ से आप स्टोरकीपर के बहुत से काम सिख सकते है जो स्टोरकीपर को मालूम होना चाहिए। 

 अगर आप चाहे तो इस वेबसाइट के Home Page पे जा कर भी उस चैनल से जुड़ सकते है जो की आपको इस वेबसाइट के होम पेज पे मिल जायेगा।  वह से आप डायरेक्ट उस चैनल पे जा सकते है और इस काम को सिख सकते है। 

आपको ये पोस्ट कैसा लगा हमे कमेंट बॉक्स में बताये और क्या जानना चाहते है आप हमे लिख भी सकते है अरु अपनी राय दे भी सकते है वो भी बिल्कु फ्री में।  धन्यवाद्। 

स्टोरेकीपेर की और अधिक जानकारी के लिए आप YOUTUBE (Smart Storekeeper) चैनल को सब्सक्राइब कर लीजिये वहाँ आपको A TO Z जानकारी के साथ काम करने का तरीका भी मिलेगा, सिर्फ स्टोरकीपर के लिए बहुत ही अच्छा चैनल है जहा फ्री में आप उम्मीद से ज्यादा ट्रैंगिंग वीडियो और टिप्स मिलेगा आपको।

Sharing is caring!

3 thoughts on “Storekeeper Free Computer Course In Hindi-Storekeeper Guide In Hindi”

Leave a Comment